आज हम बात करेंगे पैन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें और इससे जुड़ी कुछ जानकारी। दुनिया के सभी देशों में रहने वाले लोगों के लिए एक पहचान पत्र होना बहुत जरूरी है, क्योंकि उस पहचान पत्र के जरिए ही पता लगाया जा सकता है कि कोई व्यक्ति किस देश का है।

पैन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें
पैन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें

हर देश के लोगों के पास अलग-अलग पहचान पत्र होते हैं और यह हमारे दैनिक जीवन में भी बहुत उपयोगी होते हैं। हमारे देश में कई ऐसे कार्ड हैं जिनके जरिए यहां के लोगों की पहचान की जाती है जैसे आधार कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि।

पैन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें

वहीं, लोगों को पैनकार्ड के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है तो मैं आपको आसान भाषा में बताऊंगा कि पैन कार्ड क्यों जरूरी है और इसे कैसे बनाया जाता है? जिसे एक बार पूरा पढ़ लेने पर आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी।

इन सबके अलावा एक और चीज है जिसे पहचानना हमारे लिए और साथ ही बैंक से जुड़े काम के लिए भी बहुत जरूरी है और वह है पैन कार्ड। इस लेख के माध्यम से मैं आपको पैन कार्ड क्या है और इससे जुड़ी सभी महत्वपूर्ण बातों के बारे में बताऊंगा। कृपया मेरे साथ रहें

पैन कार्ड क्या है ?

पैन कार्ड का पूरा नाम स्थायी खाता संख्या है। यह एक विशिष्ट पहचान पत्र है और इसे किसी भी प्रकार के वित्तीय लेनदेन में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है।

पैन कार्ड में 10 अंकों का अल्फ़ान्यूमेरिक नंबर मौजूद होता है, जो आयकर विभाग के पास उपलब्ध होता है। पैन कार्ड भारत में आयकर अधिनियम, 1961 के तहत लैमिनेटेड कार्ड के रूप में बनाया जाता है, जो केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) की देखरेख में आयकर विभाग द्वारा जारी किया जाता है।

आपकी आय से आयकर का भुगतान करने के लिए पैन कार्ड बहुत महत्वपूर्ण है। पैन कार्ड में मौजूद नंबर सभी प्रकार के प्रमुख वित्तीय लेनदेन के लिए आवश्यक हैं जैसे बैंक में खाता खोलना, कर योग्य वेतन प्राप्त करना, पैसा खरीदना या बेचना, संपत्ति और इन सब चीजों में जेवर आदि पैन कार्ड। इसकी जरूरत है, इसलिए इस कार्ड में खाताधारक के सभी विवरण मौजूद हैं।

पैन कार्ड में मौजूद 10 अंकों के अल्फ़ान्यूमेरिक नंबर का क्या मतलब है?

मैं पहले ही बता चुका हूं कि पैन कार्ड में 10 अंकों का एक अल्फ़ान्यूमेरिक नंबर होता है, जिसमें आपकी कई जानकारी AAECC6548C की तरह छिपी होती है।

पहले पांच अक्षर अंग्रेजी के अक्षर हैं, अगला 4 अंकों की संख्या है और अंत में फिर से एक वर्णमाला है।

इन सभी नंबरों का कोई न कोई अर्थ होता है और ये व्यक्ति के महत्वपूर्ण विवरण को व्यक्त करते हैं। आइए जानते हैं इन सभी नंबरों का क्या मतलब होता है।

  1. पहले तीन अक्षर। पहले तीन अक्षर एक सामान्य वर्णमाला श्रृंखला के होते हैं, A से Z तक वर्णमाला का उपयोग किया जाता है, जैसे कि AZT या ZRT, जिसमें किन्हीं तीन अक्षर होते हैं।
  2. चौथा अक्षर। चौथा अक्षर कार्ड धारक की स्थिति के बारे में बताता है। यह इस कार्ड का सबसे महत्वपूर्ण अक्षर है जो व्यक्ति की स्थिति की पहचान बताता है।
  3. यह चौथा अक्षर अधिकांश पैन धारकों की संख्या पर “P” अक्षर है, जिसका अर्थ है “व्यक्ति”। अन्य 9 वर्ण जो चौथे वर्ण का वर्णन करते हैं वे इस प्रकार हैं

ए – व्यक्तियों का संघ
बी – व्यक्तियों का शरीर
सी – कंपनी
एफ – फर्म
जी – सरकार
एच – हिंदू अविभाजित परिवार
एल – स्थानीय प्राधिकरण
जे – कृत्रिम न्यायिक व्यक्ति
टी – ट्रस्ट

  1. पाँचवाँ अक्षर। यदि पैन कार्ड व्यक्तिगत है, तो पाँचवाँ अक्षर व्यक्ति के अंतिम नाम या उपनाम का पहला अक्षर है, जैसे प्रतीक जैन, तो पैन कार्ड के नंबर पर पाँचवाँ अक्षर “J” होगा।
  2. और अगर पैन कार्ड किसी ट्रस्ट, संस्था, कंपनी, सरकार आदि के लिए है तो उसके नाम का पहला अक्षर पांचवें अक्षर में होता है। छह से नौ अक्षर। ये चार वर्ण 0001 से 9999 तक चार यादृच्छिक संख्याएँ हैं।
  3. दसवां अक्षर। पैन कार्ड का अंतिम अक्षर वर्णमाला का चेक अंक होता है, जो शेष 9 वर्णों को लेकर एक सूत्र द्वारा उत्पन्न होता है।

क्यों जरूरी है पैन कार्ड ?

  • पैन कार्ड में फोटो, नाम और हस्ताक्षर होते हैं, इसलिए इसे पहचान पत्र के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इसका मुख्य उपयोग टैक्स देना होता है। पैन कार्ड के बिना आपको टैक्स में ज्यादा भुगतान करना पड़ सकता है।
  • पैन कार्ड के यूनिक नंबर की मदद से आयकर विभाग किसी व्यक्ति द्वारा किए गए सभी लेनदेन को लिंक और मॉनिटर करता है ताकि कर चोरी को रोका जा सके।
  • यह न केवल करों का भुगतान करने के लिए बल्कि किसी भी उच्च मूल्य के लेनदेन के लिए भी आवश्यक है।
  • नौकरी करने वाले व्यक्ति को पैन कार्ड की सबसे ज्यादा जरूरत होती है, जिससे उनके लिए भुगतान भरना आसान हो जाता है।
  • आजकल सभी बैंकों में खाता खोलने के लिए पैन कार्ड की आवश्यकता होती है।
  • पैन कार्ड आपको आयकर में हर तरह की गलतियों या समस्याओं से बचाता है।
  • घर बनाने के लिए संपत्ति खरीदते या बेचते समय भी पैन कार्ड की आवश्यकता होती है। वाहन खरीदते समय भी इसकी आवश्यकता होती है।

पैन कार्ड बनवाने के लिए किन दस्तावेजों की जरूरत होती है?

  • दो हालिया पासपोर्ट साइज फोटो
  • जन्म का प्रमाण। इसके लिए आप अपने जन्म प्रमाण पत्र, विवाह प्रमाण पत्र, मीट्रिक प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस में से किसी एक की फोटो कॉपी का उपयोग कर सकते हैं।
  • पहचान प्रमाण। इसके लिए आप किसी एक दस्तावेज जैसे वोटर कार्ड/पासपोर्ट/ड्राइविंग लाइसेंस/पेंशन कार्ड/आधार कार्ड/राशन कार्ड आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • पते का सबूत। इसके लिए आपको बिजली बिल/ड्राइविंग लाइसेंस/पासपोर्ट/आधार कार्ड/टेलीफोन बिल आदि का दस्तावेज चाहिए।

ध्यान रहे कि सभी जरूरी दस्तावेज ए4 साइज पेज में होने चाहिए और फोटो के साथ उन सभी का सेल्फ अटेस्टेड होना बहुत जरूरी है, सेल्फ अटेस्टेड यानी खुद के सिग्नेचर।

हमारी भारत सरकार जल्द ही आधार कार्ड जैसे सभी सरकारी कार्यों में पैन कार्ड को अनिवार्य कर देगी, इसलिए यह कार्ड आपके पास होना बहुत जरूरी है।

पैन कार्ड की स्थिति कैसे ट्रैक करें?

पैन आवेदन की स्थिति, प्रसंस्करण की स्थिति, वितरण की स्थिति आदि को आसानी से ऑनलाइन जांचा जा सकता है।

यदि आपका पैन कार्ड यूटीआई के माध्यम से लागू किया गया है, तो पैन कार्ड की स्थिति को यूटीआई कूपन नंबर द्वारा ट्रैक किया जा सकता है जो 10 अंकों की संख्या है।

इसमें वह व्यक्ति 7 दिनों के बाद ही अपने स्वयं के पैन की स्थिति को ट्रैक कर सकता है जब उसने एनएसडीएल और यूटीआई के माध्यम से अपना आवेदन भरा हो।

पावती संख्या के बिना पैन कार्ड की स्थिति कैसे जांचें?

टिन-एनएसडीएल ने आवेदकों के लिए बहुत ही नए और आसान तरीके बनाए हैं ताकि वे आसानी से ऑनलाइन पैन कार्ड की स्थिति की जांच कर सकें।

यह पोर्टल उपयोगकर्ताओं को पैन कार्ड आवेदन स्थिति करने की अनुमति देता है, वह भी बिना पावती संख्या के।

इसमें आपको अपने पैन कार्ड का स्टेटस चेक करने के लिए सिर्फ नाम और जन्मतिथि की जरूरत होगी। वहां आपको निचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना है
क्या होगा।

मेरा पैन कार्ड देखने के लिए वेबसाइट

  • सबसे पहले टिन-एनएसडीएल पोर्टल पर जाएं
  • “पैन – नया / परिवर्तन अनुरोध” चुनें, वह भी आवेदन प्रकार अनुभाग पर
  • फिर नाम अनुभाग चुनें जिससे आप पावती संख्या के बिना पैन कार्ड की स्थिति की जांच कर सकते हैं
  • अब आपको अपना लास्ट नेम, फर्स्ट नेम, मिडिल नेम और डेट ऑफ बर्थ दर्ज करनी होगी
  • फिर “सबमिट” बटन पर क्लिक करें जिससे आपको पैन का दर्जा मिल जाएगा।

पैन कार्ड कैसे बनाये ?

पहले केवल सरकारी कर्मचारी ही पैन कार्ड के लिए हिंदी में आवेदन कर सकते थे, लेकिन अब ऐसा बिल्कुल नहीं है, कोई भी व्यक्ति, कंपनी, संगठन आदि पैन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

एनआरआई व्यक्ति यानी जो इस देश का नागरिक नहीं है वह भी पैन कार्ड के लिए आवेदन कर सकता है।

इस ऐप के लिए अप्लाई करना बहुत ही आसान है, आप इस ऐप को दो तरह से बना सकते हैं, पहले या तो आप खुद इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की वेबसाइट incometaxindia.gov.in पर जाकर या tin-nsdl.com या utiitsl.com पैन कार्ड बनवाने के लिए फॉर्म भर सकते हैं।

और दूसरी बात आप चाहें तो अपने शहर के सर्विस सेंटर में जा सकते हैं जहां पैन कार्ड बनते हैं।

पैन कार्ड बनाने के लिए 107 रुपये का शुल्क लिया जाता है या इससे अधिक भी हो सकता है, कई जगहों पर 150.200 रुपये तक के पैसे लिए जाते हैं।

अगर आप पैन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन कर रहे हैं, तो आपको नेट बैंकिंग की आवश्यकता होगी या आप क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से भी भुगतान कर सकते हैं।

और अगर आप बाहर के किसी सेंटर से पैन कार्ड बनवा रहे हैं तो कैश में पैसे दे सकते हैं.

पैन कार्ड के लिए आवेदन करने के बाद आपको एक नंबर दिया जाता है जिससे आप पता लगा सकते हैं कि आपका पैन कार्ड बनाने की प्रक्रिया की स्थिति क्या है और कितने दिनों में आप तक पहुंच जाएगी।

पैन कार्ड आधिकारिक वेबसाइट लागू करें – यहाँ क्लिक करें

अस्वीकरण

हम किसी भी जानकारी के लिए किसी भी दायित्व को अस्वीकार करते हैं जो पिछली बार जानकारी के विशेष भाग को अपडेट किए जाने के बाद से पुरानी हो गई है। हम बिना किसी पूर्व सूचना के किसी भी समय इस वेबसाइट की सामग्री के किसी भी हिस्से में परिवर्तन और सुधार करने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं।

इस पोस्ट में दी गई जानकारी केवल शैक्षिक उद्देश्य के लिए है, उस पोस्ट को ग्राहक को ध्यान में रखते हुए लिखा गया है, जिसके माध्यम से ग्राहक यह जान सकता है कि इस वेबसाइट पर क्या सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सकती हैं, पोस्ट में दी गई जानकारी सभी आधिकारिक है। आधिकारिक वेबसाइट का लिंक भी वेबसाइट से लिया गया है ताकि ग्राहक भ्रमित न हों।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है कि आपको मेरा लेख पसंद आया होगा पैन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें . मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को PAN Card कैसे बनाये की पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनका समय भी बचेगा और उन्हें सारी जानकारी भी एक ही जगह मिल जाएगी।

अगर आपको इस लेख के बारे में कोई संदेह है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ सुधार होना चाहिए, तो आप इसके लिए कम टिप्पणियाँ लिख सकते हैं।

अगर आपको यह पोस्ट हिंदी में पैन कार्ड क्या है पसंद आया या कुछ सीखने को मिला, तो कृपया इस पोस्ट को सोशल नेटवर्क जैसे फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया साइटों पर साझा करें।

दोस्तों हमारी वेबसाइट के लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए हमारी Sarkari-detail वेबसाइट को सब्सक्राइब करना ना भूलें, जिससे आपको हमारी आने वाली नई पोस्ट के बारे में लेटेस्ट अपडेट मिलती रहे, तो दोस्तों आज के लिए बस इतना ही हम देखते हैं तुम फिर से तब तक। आपका दिन शुभ हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here